Recipes, Guest posting & Reviews

बूंदी के लड्डू – Boondi Ladoo

0 79,504

चाहे कोई त्यौहार हो या फिर कोई खुश‍ियों का अवसर, भारत में मीठा और विशेषकर लड्डू खि‍लाने का चलन है। शायद इसीलिए उत्तर भारतीय (North Indian) समाज में खुशी के अवसर पर मन में लड्डू फूटने का मुहावरा प्रचलित है। इसके अलावा पूजा में भी लड्डुओं का भोग लगाया जाता है। इसीलिए आज खास तौर पर आपके लिए बूंदी के लड्डू Boondi ke Ladoo, जिन्हें मोतीचूर के लड्डू Motichoor ke Ladoo भी कहा जाता है, के बनाने की रेसिपी पेश की जा रही है। हमें विश्वास है कि यह बूंदी लड्डू रेसिपी Boondi Ladoo Recipe आपको पसंद आएगी।

 English RecipeHinglish Recipe – Other Festival Recipes

बूंदी/मोतीचूर के लड्डू बनाने की विधि

  • Servings: 4 person
  • Difficulty: Medium

बूंदी के लड्डू Boondi Ke Ladoo बनाने की आसान रेसिपी।

आवश्यक सामग्री :

  • बेसन_Gram flour – 01 कप,
  • शक्कर_Sugar – 1 1/2 कप,
  • खरबूजे के बीज_Melon seeds – 02 बड़े चम्मच (ड्राई रोस्ट किये हुए),
  • छोटी इलाइची_Cardamom – 05 नग (दाने निकले हुए),
  • तेल_Oil – 01 बड़ा चम्मच,
  • देशी घी_Pure Ghee – बूंदी तलने के लिये।

बूंदी के लड्डू बनाने की विधि :

बूंदी के लड्डू Boondi Ke Ladoo बनाने के लिये सबसे पहले बूंदी बनाने की तैयारी करनी होगी। इसके लिए बेसन को छान लें। उसके बाद एक बड़े प्याले में सवा कप से थोड़ा कम पानी लें और उसमें बेसन डाल कर घोल लें। बेसन को इस तरह से घोलें कि उसमें गुठलियां न रह जाएं। बेसन घुलने के बाद उसे अच्छी तरह से फेंट लें।

यह घोल इस तरह से होना चाहिए कि यदि उसे चम्मच में लेकर गिराया जाए, तो वह लगातार एक ही फ्लों में गिरे। उसकें बाद उसमें तेल डालें और एक बार फिर से फेंट लें। जब बेसन के घोल में तेल एकसार हो जाए, उसे 20 मिनट के लिए रख दें।

अब किसी छोटे भगोने में एक कप पानी लें और उसमें शक्कर डाल कर घोल लें। शक्कर घुलने के बाद घोल वाले बर्तन को आग पर तब तक पकाएं, जब तक उसकी एक तार की चाशनी न बन जाए।

इसे चेक करने के लिए एक छोटे चम्मच में चाशनी को निकाल कर उसे ठंडा कर लें और दो उंगलियों के बीच रख कर चिपका कर देखें। अगर उंगलियों के बीच एक तार जैसा बनता है, तो समझ लें कि आपकी चाशनी तैयार है।

अब एक कढ़ाई में घी डालकर गरम करें। जब तक घी गरम हो, बेसन को एक बार और अच्छी तरह से फेंट लें। घी गरम होने पर एक बड़ी कलछी को कढ़ाई के ऊपर रखें और एक चम्मच से उसपर बेसन का घोल गिराएं। बेसन का घोल कलछी के छेदों से निकल कर खौलते हुए घी में गिरेगा और बूंदी के रूप में ढ़लता जाएगा।

कढ़ाई में जितनी बूंदी आसानी से तल जाएं, उतनी गिराएं और उन्हें सुनहरी होने तक तल लें। इसी तरह जब सारी बूंदी तल जाएं, चाशनी में इलाइची के दाने और खरबूजे के बीज डाल दें। उसके बाद बूंदी को भी चाशनी में डाल दें। कलछी से चाशनी और बूंदी को अच्छी तरह से मिक्स कर दें और कलछी की सहायता से बूंदी को दबा कर बीस मिनट के लिए छोड़ दें।

बीस मिनट बाद बूंदी को चाशनी से निकाल लें। उसके बाद हाथों में पानी लगाकर थोड़ी सी बूंदी हाथ में लें और दबा-दबा कर गोल लड्डू बना लें। बने हुए हुए लड्डुओं को किसी परात में रखते जाएं और उन्हें किसी बंद जगह में लगभग पांच घंटों के लिए खुला छोड़ दें। इतनी देर में लड्डुओं की चाशनी पूरी तरह से बूंदी में जज्ब हो जाएगी और खुश्क हो जाएंगे।

अब आपके बूंदी के लड्डू तैयार हैं। इन्हें बाउल में निकालें और सर्व करें। इस तरह से तैयार बूंदी के लड्डू सुनहरे पीले रंग के होंगे। यदि आप कलरफुल लड्डू बनाना चाहें, तो बूंदी तलने के पहले बेसन के घोल में मनचाहा खाने वाला कलर मिला दें, इससे बनने वाली बूंदी मनचाहे कलर की होगी और आपके लड्डू भी उसी रंग के तैयार होंगे।


keywords: boondi ke ladoo in hindi, boondi recipe in hindi, how to make bundi ladoo in hindi, motichur ladoo recipe in hindi, boondi laddu banane ki vidhi, motichoor ke ladoo banane ki vidhi, motichoor ke ladoo recipe in hindi.